मेरें अंदर कमी निकालने से पहले तुम ख़ुद की सारी कमियाँ खत्म करके दिखाओ” “कमियाँ तो बहुत हैं मुझमें…साला कोई निकाल के तो देखे।”

31

Dec 2019

Good Bye 2019

ज़िन्दगी का एक और साल पूरा हुआ कहीं खुशिया थी तो कहीं गम साथ हुआ, कितना खुशनसीब हूँ मैं, कुछ पुराने चेहरे साथ रहे तो कुछ नए चेहरों का दीदार हुआ, किसी को हंसाया तो किसी को रुलाया, तो कभी मैं भी इन सबसे रूबरू हुआ, ज़िन्दगी का एक और साल पूरा हुआ, कहीं खुशिया […]

पांच पहर काम (कर्म) किया, तीन पहर सोए,एको घड़ी न हरी भजे तो मुक्ति कहाँ से होए..! शब्द-शब्द में ब्रम्हा हैं, शब्द-शब्द में सार,शब्द सदा ऐसे कहो जिनसे उपजे प्यार..!!